देहरादून। ‘उत्तराखंड आंदोलन : स्मृतियों का हिमालय’ पुस्तक के लेखक वरिष्ठ पत्रकार हरीश लखेड़ा को एक नवंबर को देहरादून के टाउन हॉल में सम्मानित किया जाएगा। राज्य की 17वीं वर्षगांठ पर हो रहे कार्यक्रमों के तहत टाउन हॉल में यह कार्यक्रम हो रहा है। उत्तराखंड राज्य गठन के 17 साल बाद इस अभूतपूर्व आंदोलन पर समग्रता में दस्तावेजों के साथ...
नई दिल्ली। 11 अगस्त, 2017 । भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया विभाग के प्रमुख अनिल बलूनी ने कहा है कि भारत में असम के बाद दूसरा राज्य है जहां डेमोग्राफी तेजी से बदल रही है। एक विशेष वर्ग के लोग उत्तराखंड में अपनी आबादी बढ़ा रहे हैं। यहां उत्तराखंड सदन में वरिष्ठ पत्रकार हरीश लखेड़ा की पुस्तक ‘उत्तराखंड आन्दोलन-स्मृतियों...
नई दिल्ली। 11 अगस्त, 2017 । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित उत्तराखंड सदन में वरिष्ठ पत्रकार हरीश लखेड़ा की पुस्तक ‘उत्तराखंड आन्दोलन-स्मृतियों का हिमालय’ का विमोचन किया। इस मौके पर रावत ने लखेड़ा को बधाई देते हुये कहा कि उनकी पुस्तक ‘उत्तराखण्ड आन्दोलन-स्मृतियों का हिमालय’ उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन के बारे में उत्तराखंड की भावी पीढ़ी...
भारत में रह रहे पाक समर्थको इस फोटो को ठीक से देखा लो।  यह फोटो उत्तराखंड के वीर पुत्र शहीद मेजर कमलेश पांडे की  है। साथ में  पत्नी रचना और मात्र दो साल की प्यारी बेटी  भूमिका भी है  जब तक वह ठीक से बोलना -चलना सीखेगी, तभी उसे मालूम होगा की उसके पिता नहीं रहे। देश के लिए...
नई दिल्ली।  उत्तराखंड राज्य बनने के बाद पहाड़ी क्षेत्रों में 3000 गांव पूरी तरह खाली हो गए हैं और ढाई लाख से ज्यादा घरों में ताले लटके हुए हैं। ये सरकारी आंकडे हैं।  गैर सरकारी आंकड़ा इससे कहीं अधिक हो सकता है।  समृद्ध पहाड़ी शैली में निर्मित हजारों भव्य मकानों में घास व झाड़ियां उग गई हैं।   पूरे के...
शहीद श्रीदेव सुमन महान क्रांतिकारी थे।  श्रीदेव सुमन के संघर्ष ने टिहरी रियासत की चूलें हिला दी थीं। वे अहिंसावादी स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्होंने टिहरी जेल में एक बार नहीं बल्कि दो बार आमरण अनशन किया। दूसरी बार 84 दिनों तक जेल के भीतर आमरण अनशन करते हुए श्रीदेव सुमन ने 25 जुलाई, 1944 को अपने प्राण त्याग दिये।  ...
नई दिल्ली। पाकिस्तान की खुफिया ऐजेंसी आईएसआई की उत्तराखंड पर टेढी नजर है। आईएसआई उत्तराखंड में मसजिदें और दरगाहों बनाकर अपना जाल फैलाना चाहती है । पौड़ी जिले के सतपुली कस्बे में हाल की घटना इस साजिश की ओर इंगित कर रही है। आईबी ने केंद्र सरकार को आगाह किया है कि उत्तराखंड को इस्लामी कट्टर पंथियों के निशाने पर है।...
देहरादून। ग्लोबल वार्मिंग के चलते मैदानों की वनस्पतियां अब पहाड़ों की ओर जाने लगी हैं। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में वानस्पतिक विज्ञानियों के अध्ययन के अनुसार तापमान में वृद्धि के कारण मैदानी क्षेत्रों में पनपने वाली अनेक वनस्पतियां अब पहाड़ों की ओर रुख करने लगी हैं। वैज्ञानिक अध्ययन में उत्तराखंड के सोमेश्वर घाटी में साल वृक्षों की बढ़वार में तेजी...
उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल  पिछले दिनों एक रूटीन चेक के लिए रुद्रप्रयाग के राजकीय गर्ल्स इंटर कॉलेज गए थे। वहां जाने पर उन्हें पता चला कि स्कूल में साइंस का कोई टीचर ही नहीं है। उन्होंने तुरंत इसका समाधान निकाला और अपनी पत्नी ऊषा घिल्डियाल से स्कूल में किसी शिक्षक की तैनाती होने तक पढ़ाने को...
उत्तराखंड की अब तक की कभी सरकारें अपने बुद्धिजीवियों को भुला देती रही हैं। अब उम्मीद की जानी चाहिए कि त्रिवेंद्र रावत सरकार अपने समाज के बुद्धिजीवियों की भी सुध लेगी। यदि  अपनों की भी सुध लेती तो शायद वरिष्ठ फोटो जर्नलिस्ट कमल जोशी को फंदे पर झूलने पर मजबूर न होना पड़ता। कमल जोशी अपने जाने के साथ ही...

FOLLOW ME

0FansLike
259FollowersFollow
4,354SubscribersSubscribe

WEATHER

- Advertisement -