जलते अंगारों के कुंड में क्या कोई मानव चल सकता है? जी हां ऐसे दृश्य देखते हैं तो उत्तराखंड चले आइए। यहां जागरों व देव पूजन के समय यह सब देखा जा सकता है। हाल में भी केदारघाटी यक्षराज (जाख देवता) की पूजा के समय ऐसा ही दृश्य देखने को मिला। यहां मंदिर परिसर में आग का कुंड बनाया गया...
नई दिल्ली। उत्तराखंड में शायद ही कोई महीना होता होगा जब पहाड़ में बस या कार- टैक्सी खाई में न गिरती हो। हिमाचल के गूमा के समीप त्यूनी भीषण बस हादसा पहाड़ के लिए कोई नया हादसा नहीं है। यहां आए दिन इस तरह की दुर्घटनाएं होती रहती हैं लेकिन सरकारी तंत्र कभी भी सचेत नहीं हो पाया। त्यूनी  की...
कोटद्वार।  उत्तराखंड में भी हैवानज्यादा पैदा होने लगे हैं।  कोटद्वार में एक पति ने बेड टी देने से मना करने पर अपनी पत्नी को कैंची घोंपकर कर दी हत्या कर दी.  पुलिस ने वारदात के बाद भागने की फिराक में लगे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पौड़ी के एसएसपी मुख्तार मोहसिन ने घटना की जानकारी देते हुए बताया, 'कोटद्वार...
नई दिल्ली। खेमेबाजी में बंटे उत्तराखंड के आला अफसरों को सुधारना मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के लिए बड़ी चुनौती है।  विधानसभा चुनाव के समय दिल्ली में तैनात किए उत्तराखंड के अपर स्थानिक आयुक्त डॉ. मृत्युंजय मिश्रा को प्रदेश सचिवालय में तैनात करने को लेकर शुरू हुआ विवाद इस पहाड़ी प्रदेश के आला अफसरों की कहानी को बयां करता है। उत्तराखंड...
नई दिल्ली, 7 अप्रैल, 2017। दिल्ली समेत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के उत्तराखंड आंदोलनकारी छले गए हैं। उनको छलने वाले कोई बाहरी नहीं बल्कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हैं जिन्होंने चुनाव से ठीक  पहले दिल्ली में आंदोलनकारियों के चिन्हीकरण के लिए समिति तो बना दी लेकिन बाकी कार्यवाही पूरी नहीं की, जिससे मामला जहां का तहां है। उत्तराखंड की...
दिल्ली से लेकर देश-विदेश में इस लेख को पढ़ने वाले दोस्तो क्या आपने कभी अपने पुरखों के बनाए पुंगड़ों (खेतों) को याद किया है। जिन पुंगड़ों को बनाने में कई पीढ़ियां खप गईं होगी, उन्हें छोड़ने में हमने कोई वक्त नहीं गंवाया। दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में पल बढ़ रही पीढ़ी को भद्वाड़, सारी, पुंगड़ा, सगोड़ा, स्यारा, उखड़ जैसे शब्दों...
नई दिल्ली। मिस्ड कॉल! जी हां मिस्ड कॉल के नाम पर बदमाशों के गैंग उत्तराखंड की भोली-भाली महिलाओं को अपनी बातों में उलझा कर फंसा रहे हैं। यही वजह है कि उत्तराखंड से लड़कियां और महिलाएं गायब होने की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। सरकारी आंकड़े गवाह हैं कि हर साल लगभग 50 लड़कियों और महिलाओं के गायब होने...
  इधर देहरादून जाने का कई बार मौका मिला। हर बार देहरादून को पहले से बदतर हालत में देखा।  देहरादून उत्तराखंड की राजधानी है और वहां जाकर हर बार सोचता रहा हूं कि आखिरकार यह शहर दिल्ली न सही लेकिन हैदराबाद,बंगलुरू अथवा चंडीगढ़ की तरह विकसित क्यों नहीं हो पा रहा है। इसे तो साफ सुथरा और सुंदर होना चाहिए...

FOLLOW ME

0FansLike
388FollowersFollow
5,977SubscribersSubscribe

WEATHER

- Advertisement -