कोटद्वार।  उत्तराखंड में भी हैवानज्यादा पैदा होने लगे हैं।  कोटद्वार में एक पति ने बेड टी देने से मना करने पर अपनी पत्नी को कैंची घोंपकर कर दी हत्या कर दी.  पुलिस ने वारदात के बाद भागने की फिराक में लगे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पौड़ी के एसएसपी मुख्तार मोहसिन ने घटना की जानकारी देते हुए बताया, 'कोटद्वार...
नई  दिल्ली।  उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने गत 20 और 30 मार्च ( 2017 ) को दो ऐतिहासिक निर्णय सुनाए. ये दोनों निर्णय भारत के विधि इतिहास में मील के पत्थर हैं. ऐसे विधिक निर्णय विश्व के विभिन्न राष्ट्रों में पहले से हैं पर भारत में ऐसे निर्णय पहली बार किसी न्यायालय ने दिए हैं. ये निर्णय हैं –गंगा-यमुना और...
नई दिल्ली। उत्तराखंड में शायद ही कोई महीना होता होगा जब पहाड़ में बस या कार- टैक्सी खाई में न गिरती हो। हिमाचल के गूमा के समीप त्यूनी भीषण बस हादसा पहाड़ के लिए कोई नया हादसा नहीं है। यहां आए दिन इस तरह की दुर्घटनाएं होती रहती हैं लेकिन सरकारी तंत्र कभी भी सचेत नहीं हो पाया। त्यूनी  की...
लगातार सात साल से आपके प्यार और स्नेह के चलते आज हिमालयीलोग पोर्टल इस मुकाम पर पहुंच गया है कि उसे देश-दुनिया में बड़ी संख्या में देखा जाता है।  समय भी बदलता है और दुनिया भी और हम भी। इसलिए इस पोर्टल को हम लगातार नये रूप में लाते रहे हैं। पोर्टल को हमने अब चौथी बार रीडिजाइन किया है।...
दिल्ली से लेकर देश-विदेश में इस लेख को पढ़ने वाले दोस्तो क्या आपने कभी अपने पुरखों के बनाए पुंगड़ों (खेतों) को याद किया है। जिन पुंगड़ों को बनाने में कई पीढ़ियां खप गईं होगी, उन्हें छोड़ने में हमने कोई वक्त नहीं गंवाया। दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में पल बढ़ रही पीढ़ी को भद्वाड़, सारी, पुंगड़ा, सगोड़ा, स्यारा, उखड़ जैसे शब्दों...
-----  व्योमेश चन्द्र जुगरान ( हिमालयीलोग दिल्ली में उत्तराखंड के पुराने पत्रकारों को याद कर रहा है।  वीरेन्द्र बर्त्वाल पहली पीढ़ी के पत्रकारोंमें से एक थे ।  22 जुलाई को उनकी  नौवीं पुण्यतिथि थीं।) ---------------------------------------------- नई दिल्ली। परम आदरणीय वीरेन्द्र बर्त्वालजी तब नवभारत टाइम्स दिल्ली मे न्यूज एडिटर थे। मैं नभाटा के जयपुर संस्करण में था। जब भी दिल्ली आना होता, बर्त्वाल जी...
नई दिल्ली, 7 अप्रैल, 2017। दिल्ली समेत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के उत्तराखंड आंदोलनकारी छले गए हैं। उनको छलने वाले कोई बाहरी नहीं बल्कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हैं जिन्होंने चुनाव से ठीक  पहले दिल्ली में आंदोलनकारियों के चिन्हीकरण के लिए समिति तो बना दी लेकिन बाकी कार्यवाही पूरी नहीं की, जिससे मामला जहां का तहां है। उत्तराखंड की...
गंगटोक: पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम  देश का पहला जैविक कृषि राज्य है। :सिक्किम में: लगभग एक दशक पहले जैविक खेती की शुरुआत हुई।   सिक्किम नेदेश को रास्ता दिखाया है।   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सिक्किम को देश का पहला जैविक कृषि राज्य घोषित किया था।  तब उन्होंने  कहा था कि यह राज्य जल्द ही न केवल देश में, बल्कि...
नई दिल्ली। हिमालय संकट में  है। हिमालय को बचाना है तो केंद्र व राज्य सरकारों को चाहिए कि उच्च हिमालयी क्षेत्र में  जाने वाले  पर्यटकों की संख्या नियंत्रित हो।  हर साल 10 करोड़ लोग हिमालय जा रहे हैं।  इससे भी हिमालय पर संकट है। हिमालय को  ग्लोबल वॉर्मिंग से बचाना ही होगा अन्यथा पूरा भारत  मुश्किल में होगा। पीने...
नोएडा।  एक साल होने को है।   नोएडा के  सेक्टर 22 में रहने वाली कशिश रावत  12 मई 2016 को खेलने के लिए बाहर गई थीं लेकिन  वह  लौटकर घर पर नहीं आई। गायब हुई बच्ची के माता पिता परेशान हो कर उसे ढूंढने लगे। थक-हार कर जब कोई पता न चला तो उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट की।  आज 10...

FOLLOW ME

0FansLike
388FollowersFollow
5,458SubscribersSubscribe

WEATHER

- Advertisement -