पृथक राज्य के लिए उत्तराखंड में धधक रही संघर्ष ज्वाला को ऊर्जा प्रदान करने हेतु 80 के दशक व उसके उपरान्त देश की राजधानी दिल्ली के बोट क्लब और जंतर-मंतर व विभिन्न क्षेत्रों में उत्तराखंड राज्य हेतु जनजाागरण व आंदोलनों के कार्यक्रमों की श्रंृखलाएं आयोजित होती थीं। दिल्ली में लगातार होते आंदोलनों के कार्यक्रमों के दौरान उत्तराखंड मूल के...
नई दिल्ली।दिल्ली में राजौरी गार्डन सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए खतरे की घंटी हैं. दिल्ली  निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई तो केजरीवाल के लिए आने वाले दिन कठिनाईपूर्ण होंगे।  इस सीट से बीजेपी के मनजिंदर सिंह सिरसा ने 14 हजार वोटों से जीत दर्ज की है।इस सीट...
नई दिल्ली। बैशाखी यानी बिखोती से उत्तराखंड में ग्रीष्मकालीन मेलों की शुरू आत हो गई है। ये मेले मई तक चलेंगे। वैसे तो उत्तराखंड में लगभग हर मौसम में मेले लगते रहे हैं। ठंड के मौसम में प्रसिद्ध गिंदी मेले लगते हैं। हर छह व 12 साल में हरिद्वार में कुंभ लगता है। बरसात में भगवान शिव के मंदिरों में...
नई दिल्ली।  दिल्ली में अब यमुना को गन्दा करना जेब पर भारी पड़ सकता है।  राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने यमुना के डूबक्षेत्र में खुले में शौच करने और कचरा फेंकने पर आज (19 /05 /2017 ) प्रतिबंध लगा दिया और इस कड़े आदेश का उल्लंघन करने वालों से पांच हजार रूपए का पर्यावरण मुआवजा वसूलने की घोषणा की। एनजीटी...
हमारे घर पर उन दिनों हिंदी का अखबार जनसत्ता भी आता था। बात 1992 की है। जनसत्ता के जमनापर पेज में हरीश लखेड़ा की खबरें पढऩे को मिलने लगीं। लखेड़ा नाम से यह तो जान लिया था कि ये पत्रकार उत्तराखंड मूल के ही हैं और उनकी खबरों से यह भी अहसास हो गया था कि वे उत्तराखंडियों के...
-----  व्योमेश चन्द्र जुगरान ( हिमालयीलोग दिल्ली में उत्तराखंड के पुराने पत्रकारों को याद कर रहा है।  वीरेन्द्र बर्त्वाल पहली पीढ़ी के पत्रकारोंमें से एक थे ।  22 जुलाई को उनकी  नौवीं पुण्यतिथि थीं।) ---------------------------------------------- नई दिल्ली। परम आदरणीय वीरेन्द्र बर्त्वालजी तब नवभारत टाइम्स दिल्ली मे न्यूज एडिटर थे। मैं नभाटा के जयपुर संस्करण में था। जब भी दिल्ली आना होता, बर्त्वाल जी...
नई दिल्ली। दिल्ली में स्थानीय आयुक्त कार्यालय के गठन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले शंकर दत्त शर्मा उर्फ एसडी शर्मा की सेवाएं उत्तराखंड सरकार अब नहीं लेगी। उनका कार्यकाल 31 जुलाई 2017 को पूरा होने वाला था लेकिन उनका 12 मई को अचानक उनकी सेवाएं समाप्त कर दीं गईं। इस तरह की अचानक विदाई से एसडी शर्मा आहत हैं। वैसे...
नई दिल्ली।  हिमालयीलोग ट्रस्ट सभी  प्रवासी  उत्तराखंडी मतदाताओं से अनुरोध  करता है कि दिल्ली नगर निगम चुनाव में जिस भी पार्टी या निर्दलीय के तौर पर, जिस भी क्षेत्र से  उत्तराखंडी  प्रत्याशी  चुनाव लड़ रहे हों, उनका समर्थन करें।   उन्हें अपना बहुमूल्य मतदान करें और अन्य मतदाताओं को भी उत्तराखण्डी प्रत्याशी को जिताने में सहयोगी बनें ।दिल्ली के अन्य...
दिल्ली की लगभग एक चौथाई आबादी उत्तराखंड प्रवासियों की है। वैसे तो दिल्ली के हर इलाके में उत्तराखंड के लोग मिल जाएंगे लेकिन दक्षिण और पूर्वी जिला में इनका घनत्व कुछ ज्यादा ही है। जाड़ों में यह संख्या और भी बढ़ जाती है। ठंड ज्यादा बढ़ने और खेती के काम से फुरसत मिलने के कारण पहाड़ के लोग मैदानी...
------------  इंद्र  वशिष्ठ .------------------------ दिल्ली और एनसीआर में  पिछले 5-7 सालों में  हत्या, लूट और जबरन वसूली  जैसे  संगीन अपराध  में देसी पिस्तौल के इस्तेमाल में जबरदस्त इजाफा हुआ है । उम्दा किस्म के देसी पिस्तौल का आसानी से मिल जाना इसका मुख्य कारण है।  15 मई 2017 तक  ही दिल्ली पुलिस 371  पिस्तौल/रिवाल्वर/बंदूक बरामद कर चुकी है। पुलिस ने...

FOLLOW ME

0FansLike
388FollowersFollow
6,440SubscribersSubscribe

WEATHER

- Advertisement -