नेहरू परिवार की पहली विदेशी बहू थीं मगदोलना फ्रीडमैन यांनी शोभा नेहरू

0
383

शिमला । कम ही लोग जानते हैं कि सोनिया गांधी नहीं बल्कि शोभा नेहरू नेहरू खानदान की पहली विदेशी बहू थीं।शोभा का विवाह देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के चचरे भाई बृजलाल के बेटे ब्रज कुमार नेहरू के साथ हुआ था।शोभा नेहरू का विवाह से पहले नाम मगदोलना फ्रीडमैन था और उनका उपनाम फौरी भी था।वह यूरोप के यहूदी समुदाय (जैविश) मूल की थी।उनका जन्म 5 दिंसबर 1908 को बुडापेस्ट (हंगरी) में हुआ था।ब्रज कुमार नेहरू व मगदोलना इंग्लैंड की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में साथ पढ़ते थे।यहां दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ा और बाद में दोनों ने शादी कर ली।विवाह के बाद कश्मीरी पंडिताइन के तौर उनका नाम शोभा नेहरू हो गया।

नेहरू परिवार की पहली विदेशी बहू व राहुल गांधी की दादी शोभा नेहरू का हिमाचल सोलन जिला की पर्यटन नगरी कसौली स्थित बंगले में निधन हो गया। वे 109 वर्ष की थीं। बुधवार को कसौली स्थित शमशाम घाट में ही उनका अंतिम संस्कार पूरे हिन्दू रीति-रिवाज के साथ किया गया।शोभा नेहरू का असली नाम था मगदोलना फ्रीडमैन था।

शोभा नेहरू को कसौली से बेहद लगाव था और वह कसौली में रहना पसंद करती थीं। कसौली में वह जिस बंगले में रहती थी वह उनके स्वर्गीय पति पूर्व राजदूत व जम्मू-कश्मीर व गुजरात के पूर्व राज्यपाल ब्रज कुमार नेहरू ने 1987 में खरीदा था। शोभा नेहरू सर्दियां शुरू होते ही चंडीगढ़ अपने सबसे छोटे बेटे अनिल नेहरू या सबसे बड़े बेटे अशोक नेहरू के पास गुडग़ांव चली जाती थीं।अप्रैल माह में वह वापिस कसौली लौट जाती थी। यहां उनकी देखभाल केयर टेकर करते थे. अंत समय  में उनके बेटे आदित्य नेहरू उनके साथ थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here